Were Ganpati idols thrown on Sabarmati river front in Ahmedabad ?

Spread the truth:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

A video showing idols kept on the road side is viral, claimed as Ganpati’s idols thrown/left there as an insult to God Ganpati.

Alka Lamba, Delhi MLA, asked a question as why there is no one to take these idols home with hashtag of Ganesh Utsav. She tweeted the video with the following text –

“#GaneshChaturthi #GanpatiBappaMorya… क्या आज इन मूर्तियों को अपने घर ले जाने वाला कोई नहीं ???

Manoj Sharma, Bureau Chief of News Paper, Dainik Bhaskar also posted the video with text

“ये क्लिप एक ग्रुप से मिली। बताया गया है कि यह अहमदाबाद में साबरमती नदी के किनारे बने रिवर फ्रंट के एक हिस्से की है। गणेश जी की स्थापना के बाद 1 , 3, 5,7, 9 यू दिनों में उनकी विदाई अपनी मान्यता अनुसार श्रद्धालु करते है। अमूमन नदी,तालाब,नहर में प्रतिमा विसर्जन किया जाता है।मगर यूं सैकड़ों की संख्या में सड़क किनारे ,,,,इससे बेहतर है हम घर पर मिट्टी के गणेश स्थापित करें व विसर्जन भी घर के एक गमले में कर पौधा लगाए।गणेश जी का वास भी सदा घर में रहेगा व प्रकृति की आराधना भी हम करेंगे।”

ये क्लिप एक ग्रुप से मिली। बताया गया है कि यह अहमदाबाद में साबरमती नदी के किनारे बने रिवर फ्रंट के एक हिस्से की है। गणेश जी की स्थापना के बाद 1 , 3, 5,7, 9 यू दिनों में उनकी विदाई अपनी मान्यता अनुसार श्रद्धालु करते है। अमूमन नदी,तालाब,नहर में प्रतिमा विसर्जन किया जाता है।मगर यूं सैकड़ों की संख्या में सड़क किनारे ,,,,इससे बेहतर है हम घर पर मिट्टी के गणेश स्थापित करें व विसर्जन भी घर के एक गमले में कर पौधा लगाए।गणेश जी का वास भी सदा घर में रहेगा व प्रकृति की आराधना भी हम करेंगे।

Posted by Manoj Sharma on Saturday, September 7, 2019

 

Zainab Sikander tweeted the same video who immerse Ganpati in natural water bodies and why not use bio-degradable, eco-friendly idols.

At the risk of being called a jihadi terrorist for simply voicing my opinion on an environmental issue, may I please just ask those who do the Ganpati Visarjan in natural water bodies: WHY can’t you use eco-friendly, biodegradable (non-toxic paint) idols?

 

One twitter user, Gautam Bhatt claimed this video as shameful, God thrown on Sabarmati river front

“गणपति का त्यौहार, बड़ी धाम तुमसे हम मनाते हैं, 9 दिन 10 दिन तक उनकी पूजा पाठ न जाने क्या-क्या उनके लिए करते हैं, मगर आखरी दिन का नजारा देखिए, यह नजारा अहमदाबाद के साबरमती रिवर फ्रंट का है, शर्मनाक हरकत है यह, भगवान को इस तरह रोड पर नहीं फेंक देते”

 

It’s viral on Facebook also

Truth

First of all, looking at the video closely, none of the idol looked like God Ganpati.

This video actually is a month old i.e. much before Ganesh Utsav.
These idols are of Godess Dashama

Municipality of Ahmedabad asked citizens not to immerse the idols in the river but keep at the water front and they will collect them and immerse later with faith.

Commissioner of Ahmedanad Municipality tweeted this video on 11th Aug appreciating this act by citizens to help and keep river Sabarmati clean.

 

 

Delhi MLA, Alka Lamba is not new to spreading Fake News. We have debunked few of them earlier

 

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

Hoax Slayer

SMHoaxSlayer is India's largest and oldest Fact Checker. Started in Aug 2015, it had debunked more than 2000 Fake News till now.