Yet another WhatsApp scam using PM’s photo.

Spread the truth:
  • 125
  •  
  •  
  •  
  •  
    125
    Shares

ये हिंदी में भी है, कृपया पूरा पढ़ें और अपने WhatsApp ग्रुप्स में शेयर करें ताकि लोग इस चक्कर से बच जाएँ.
A Message is viral on WhatsApp claiming “Prime Minister girls betterment scheme 2018 – PM is giving out cheques of Rs. 10000 without any fee to girls of age between 1-18 years for their future. The last date to apply is 15th Aug 2018”

Following is the viral message / ये मेसेज वायरल है
“*प्रधानमंत्री बालिका सम्रद्धि योजना 2018*

प्रधानमंत्री द्वारा 1 से 18 साल की बालिकाओ की निःशुल्क *10 हजार* का चैक दिया जा रहा है। बालिकाओं के भविष्य के लिए इस योजना को चालू किया गया है ।
*आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त है* तो जल्दी करें और इस मैसेज को अपने सभी दोस्तों भेजें ताकि इस योजना का लाभ सभी को मिल सके
*अभी आवेदन करें*👇👇

प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना

Truth / सच्चाई –

This is a usual WhatsApp scam, some tempting content to lure people to their website to generate more traffic and earn from the advertising banners displayed on the page.

ऐसे बेवकूफ बनाने वाले मेसेज व्हात्सप्प पे सालों से फैलता एक फर्जीवाडा है, इसमें लोगो को लुभाने के लिए कुछ फ्री या सस्ता देने का प्रलोभन दिया जाता है जिससे ज्यादा लोग इनके वेबसाइट पे आते है और वहां पे जो विज्ञापन के बैनर लगे होते है उससे ये पैसा कमाते है.

Let’s analyze how to recognize such scams –
चलिए देखते है ये स्कैम कैसे काम करता है-

1.The website’s “About us” declares , this website is not related to government and we are not saving your data”
“यह वेबसाइट भारत सरकार से जुडी हुई नहीं है ना ही हम आपसे किसी प्रकार की कोई हासिल करके उसे संग्रह कर रहे है। इस वेबसाइट को बनाने का हमारा लोगो को इस योजना के प्रति जागरूक करना है।”
निचे कोने में एक छोटा सा “अबाउट अस” यानी “हमारे बारे में” का लिंक है जिसमे लिखा है की ये सरकार से जुड़े नहीं है. तो जब जुड़े ही नहीं है तो फिर ये योजना का लाभ हमे कैसे मिलेगा ?

The title of the page is “CrimesToday – Cloud And Insurance Service” which is irrelevant to the contents
The scammers have few more sites to fool people

“अबाउट अस” पेज का टाइटल कुछ और ही है जो वेबसाइट से मेल नहीं खाता है

Goverment websites usually end up with “.gov”, “.gov.in”. “.org’ etc
सरकारी वेबसाइट के आखिर में ज्यादातर ऐसे होते है “.gov”, “.gov.in”. “.org’ etc

2. It’s asking for Girl’s name, Parent’s name, girl’s age and state but how will it get back to you ? Didn’t ask for any contact of yous like mobile number/address/email id. SO all it wanted was your visit.

पेज खुलने पर ये आपसे लड़की का नाम, उम्र, माता/पिता का नाम और राज्य ही भरने को कहता है, तो फिर इस योजना का लाभ आपतक कैसे पहुंचेगा ? इन्होने ने न तो एड्रेस, न मोबाइल नंबर न ईमेल एड्रेस माँगा है आपसे.

3. The sure way to catch such scams is this part which is common in all such scams

ऐसे सरे झूठे मेसेज में ये हमेशा होता है की आपको इसे पूरा करने के लिए ८-१० दुसरे व्हात्सप्प ग्रुप में शेयर करना होगा

“वेरिफिकेशन के लिए आपको 10 ग्रुप में अथवा दोस्तों को WhatsApp पर शेयर करना पड़ेगा”

So this way you will share in 10 groups after which approx 10 people from every group you shared in will try this further sharing to their 10 groups. So within hours Lakhs of people will visit this website and the scamster will end up making lakhs of rupees.

अब आप इसे १० ग्रुप में शेयर करेंगे जिसमे से कम से कम 5-१० लोग भी इसे सच्चा समझ कर कोशिश करेंगे और वो फिर उनके १० ग्रुप में शेयर करेंगे और ये सिलसिला कुछ ही घंटो में लाखों लोगो तक चला जाता है, और इस बेवकूफ बनाने वाला लाखों कमा लेता है

SMHoaxSlayer has debunked many such WhatsApp scam earlier –
SMHoaxSlayer ने पहले ऐसे कई सारे व्हात्सप्प पे फैले स्कैम के खुलासे किये है –

 

  •  
    125
    Shares
  • 125
  •  
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

%d bloggers like this: