Spread the truth:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आगे कुआँ पीछे खाई।
मैं हर फोटो में कुछ समझने को लिखता हूँ, कारण की फोटो खुद में ही पूरा हो ताकि उसे डाउनलोड करके व्हात्सप्प या ट्विटर पे इस्तेमाल कर सके जवाब देने के लिए
पर लोगों ने कहा कि फोटो बहुत घुच पुच रहता है, सिंपल रखना चाहिए, अब जब सिंपल रखता हूँ तो लोग पोस्ट पढ़ते नहीं और फोटो का गलत मतलब समझ जाते हैं 🙁

अब आज का ही पोस्ट लीजिये, मेरा कहना था कि कल से लोग नए फोटो ऐसे शेयर कर रहें है जैसे सड़कों पे लाल पानी था ही नहीं, मेरा कहना था कि लाल ही था। बाकी फोटोशॉप इस्तेमाल करके दूध की नदियां भी बहाई जा सकती है। पर लोगो ने समझा की मैं भी कह रहा हूँ की लाल नहीं था।

लाल पे यकीं रखने के मेरे काफी सारी वजहें हैं
– सबसे पहले ये फोटो एडवर्ड रीस ने ट्वीट किए था, ईद के ही दिन 12:28 पे।
ये बंदा United Nations का है, काफी वक्त से ढाका में है, इसका काम शांति रखने में मदद करना है, तो ऐसा आदमी उल्टा काम कैसे करेगा ? इसके 25000 रिट्वीट हुए हैं

अब गौर कीजिए की सिर्फ चंद मिनिटों में
– इतने सारे फोटोशॉप कैसे होंगे ?
– क्या कारन होगा इसके पीछे ? कोई क्यों नाम खराब करेगा किसी धर्म की या देश की ? वो भी इतना आसानी से पकड़ आने वाला और इतना बड़ा झूठ !?
– दुनिया के सबसे मीडिया हाउस – बीबीसी, गार्डियन वैगरह को भी ख़रीदा जा सकता है ? वोभी ऐसे झूठ के लिए ?
– ये दूसरे रंग वाले फोटो (बिना लाल) को आने में 3 दिन कैसे लग गए ?
– अब तो लोगो के मोबाइल से लिए हुए वीडियो भी है youtube पे

सबसे बड़ी बात है कि कौन, कैसे और क्यों इतना बड़ा गेम खेलेगा ? इसलिए ये गेम था ही नहीं, जो था वो सच था। खून की नदियां थी उस दिन।
किसी को मुझ से और स्पष्टीकरण चाहिए तो बांग्लादेश का वीसा और ढाका का return टिकेट भेजे मुझे। https://www.facebook.com/SMHoaxSlayer/photos/a.147357335599672.1073741828.140690692933003/345900689078668/?type=3

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

Hoax Slayer

SMHoaxSlayer is India's largest and oldest Fact Checker. Started in Aug 2015, it had debunked more than 2000 Fake News till now.

Leave a Reply

Your email address will not be published.