A WhatsApp Scam back again, misusing photo of our PM as usual.

Spread the truth:
  • 65
  •  
  •  
  •  
  •  
    65
    Shares

A Message is viral on Whatsapp

प्रधानमंत्री आवास योजना की सूची में अपने परिवार का नाम जोड़े और पाये 12 हजार रूपये का चेक फ्री,

आवेदन करने की अंतिम तिथि 05 सितंबर 2018 है,
यहाँ से करे आवेदन 👇👇
👉🏼 http://pm.yojna-of-govt.in/आवास-योजना/

🙏🏼 विनती: 🙏🏼 कृपया इस मैसेज को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और सारे ग्रुप्स में शेयर करे ताकि सभी गरीब परिवार को इस योजना का लाभ मिल सके।

Translated: Add your and your family members’ name in the list of Pradhanmantri Awaas Scheme and get a cheque of Rs. 12000 for free. Last date to apply is 5th September 2018. Apply here .. “Fake URL”
Request: Please share this message to all friends and relatives and groups so all poor family can take advantage of this”

Well, you won’t get the cheque but you surely will start getting calls of Tele Marketers offering you loan/investments etc.

1. It can sell of your mobile number for tele marketing
2. It earns from the advertising banners on it’s page
3. It has nothing to do with government official website

You can see following ads on the page –

Such scam has been debunked many times earlier

Check this

Truth / सच्चाई –

This is a usual WhatsApp scam, some tempting content to lure people to their website to generate more traffic and earn from the advertising banners displayed on the page.

ऐसे बेवकूफ बनाने वाले मेसेज व्हात्सप्प पे सालों से फैलता एक फर्जीवाडा है, इसमें लोगो को लुभाने के लिए कुछ फ्री या सस्ता देने का प्रलोभन दिया जाता है जिससे ज्यादा लोग इनके वेबसाइट पे आते है और वहां पे जो विज्ञापन के बैनर लगे होते है उससे ये पैसा कमाते है.

Let’s analyze how to recognize such scams –
चलिए देखते है ये स्कैम कैसे काम करता है-

1.The website’s “About us” declares , this website is not related to government and we are not saving your data”
“यह वेबसाइट भारत सरकार से जुडी हुई नहीं है ना ही हम आपसे किसी प्रकार की कोई हासिल करके उसे संग्रह कर रहे है। इस वेबसाइट को बनाने का हमारा लोगो को इस योजना के प्रति जागरूक करना है।”
निचे कोने में एक छोटा सा “अबाउट अस” यानी “हमारे बारे में” का लिंक है जिसमे लिखा है की ये सरकार से जुड़े नहीं है. तो जब जुड़े ही नहीं है तो फिर ये योजना का लाभ हमे कैसे मिलेगा ?

The title of the page is “CrimesToday – Cloud And Insurance Service” which is irrelevant to the contents
The scammers have few more sites to fool people

“अबाउट अस” पेज का टाइटल कुछ और ही है जो वेबसाइट से मेल नहीं खाता है

Goverment websites usually end up with “.gov”, “.gov.in”. “.org’ etc
सरकारी वेबसाइट के आखिर में ज्यादातर ऐसे होते है “.gov”, “.gov.in”. “.org’ etc

3. The sure way to catch such scams is this part which is common in all such scams

ऐसे सरे झूठे मेसेज में ये हमेशा होता है की आपको इसे पूरा करने के लिए ८-१० दुसरे व्हात्सप्प ग्रुप में शेयर करना होगा

“वेरिफिकेशन के लिए आपको 10 ग्रुप में अथवा दोस्तों को WhatsApp पर शेयर करना पड़ेगा”

So this way you will share in 10 groups after which approx 10 people from every group you shared in will try this further sharing to their 10 groups. So within hours Lakhs of people will visit this website and the scamster will end up making lakhs of rupees.

अब आप इसे १० ग्रुप में शेयर करेंगे जिसमे से कम से कम 5-१० लोग भी इसे सच्चा समझ कर कोशिश करेंगे और वो फिर उनके १० ग्रुप में शेयर करेंगे और ये सिलसिला कुछ ही घंटो में लाखों लोगो तक चला जाता है, और इस बेवकूफ बनाने वाला लाखों कमा लेता है

SMHoaxSlayer has debunked many such WhatsApp scam earlier –
SMHoaxSlayer ने पहले ऐसे कई सारे व्हात्सप्प पे फैले स्कैम के खुलासे किये है –

 

  •  
    65
    Shares
  • 65
  •  
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

%d bloggers like this: