Will Rs. 350 be deducted from your Bank account if you don’t vote ?

Spread the truth:
  • 102
  •  
  •  
  •  
  •  
    102
    Shares

Well, you HAVE to vote considering it an obligation. So why have people panicked with this photo of an article printed in News Papers and asking about it ?

Should these media houses take permission to make fool, for satire ?
बुरा न मानो, होली है” has been in buzz lately. “Don’t feel bad, It’s Holi” has been in discussion that one should take permission to throw colors on someone, and many also use this as an excuse to harass women.

Photo of an article is viral which says that Rs. 350 will be deducted from your bank account if you won’t vote in coming Lok Sabha Elections.

वोट देने नहीं गए, तो बैंक एकांउट से कट जाएंगे पैसे
आयोग ने जारी किया नया आदेशविसं, नई दिल्ली: इस बार लोकसभा चुनाव में वोट न डालना महंगा पड़ जाएगा। चुनाव आयोग ने मतदान से बचने वालों पर शिकंजा कसने …
नवभारत टाइम्स | Updated:Mar 20, 2019, 09:00AM IST

आयोग ने जारी किया नया आदेश

विसं, नई दिल्ली: इस बार लोकसभा चुनाव में वोट न डालना महंगा पड़ जाएगा। चुनाव आयोग ने मतदान से बचने वालों पर शिकंजा कसने का नया आदेश जारी किया है। वोट न डालने वालों की पहचान आधारकार्ड से होगी और उस कार्ड से लिंक उनके बैंक एकाउंट से 350 रुपये कट जाएंगे। आयोग ने सभी बैंकों को इस आदेश पर अमल करने के लिए कहा है।

आयोग के प्रवक्ता ने बुधवार को दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि मतदान की तैयारी सभी मतदाताओं को ध्यान में रख कर की जाती है। जो मतदाता वोट डालने के लिए नहीं आते हैं, उनकी तैयारी पर आयोग ने जो खर्च किया होता है, वह बेकार जाता है। इस चुनाव में मतदान के लिए प्रति वोटर 350 रुपये का खर्च आ रहा है। इसीलिए वोट डालने के लिए न आने वाले वोटर्स के एकांउट से 350 रुपये काटे जाएंगे। जिन वोटर्स के बैंक एकाउंट में 350 रुपये नहीं होंगे या जिनके बैंक एकाउंट नहीं होंगे, उनसे यह पैसा मोबाइल फोन के रिचार्ज के वक्त कट जाएगा।

इसके लिए मिनिमम 350 रुपये का चार्ज कराना होगा, इससे कम रकम से फोन रिर्चाज ही नहीं होगा। कोई वोटर इस आदेश के लिए कोर्ट न जाए, इसको ध्यान में रखते हुए आयोग ने पहले ही कोर्ट से मंजूरी ले ली है। इसके खिलाफ अब याचिका भी दायर नहीं हो सकती।” Source- Navbharat Times

Truth

Yesterday’s Newspapers, Hindi Navbharat Times and Marathi Lokmat, printed this in an article along with other news.

But like April Fool news printed on 1st April of every year, this also was False and was meant just for humor, or may have a message to make people aware and encourage them to vote.

Check photographs of the yesterday’s Navbharat Times, Mumbai Edition

 

 

 

 

  •  
    102
    Shares
  • 102
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

Hoax Slayer

SMHoaxSlayer is India's largest and oldest Fact Checker. Started in Aug 2015, it had debunked more than 2000 Fake News till now.