She is not a reborn Nagkanyaa

Spread the truth:
  • 9
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    9
    Shares

This is not a rebirth of Nagkanya, It’s a rare incurable skin disease.

Fake News say UC Browser Say –

नई दिल्ली। शास्रों के अनुसार मनुष्य की हस्तरेखा, मस्तक की रेखाएं और शरीर की आकृति उसके कई रहस्य बता सकती हैं। गालों का रंग व्यक्ति के वंश, देश, जलवायु और स्वास्थ्य पर निर्भर करता है। लेकिन यह बात आश्चर्यचकित करने वाली कि इन दो बच्चों की त्वचा सर्प की तरह है और यह ही नही ये त्वचा सर्प की तरह उतरती भी है ! 10 में ये खाल उतार देते है । महाराष्ट्र के 13 साल की सयाली कपीसी और उसके 11 साल के भाई की जिंदगी नर्क हो गई है। उनकी त्वचा सांप की तरह दिखने लगी है और करीब हर 10 दिन में उनकी खाल गिर जाती है। पुणे में रहने वाले दोनों बच्चों का इस बीमारी के कारण स्कूल जाना बंद हो गया है। स्थानीय लोग उन्हें भूत और चुड़ैल कहते हैं और उनकी शारीरिक हालत देखकर डरते हैं।

बच्चों की माँ सारिका और पिता संतोष दिन में तीन बार उनके शरीर पर मोश्चराइजर लगते है और इसके साथ ही उन्हें दवाइयां भी दी जाती है । लेकिन बच्चों को कोई खास रहत नही मिल रही है । उनकी हड्डियां कमजोर हो गयी है और नजर भी धीरे धीरे कमजोर होती जा रही है । अब तो उन्हें देखने में भी परेशानी होने लगी है । डॉक्टरों का कहना है कि इस बच्चों की बीमारी का कोई इलाज नही है । शारिरक दर्द के कारण बच्चों का मानशिक संतुलन डगमगाने लगा है । शारिरक दर्द से ज्यादा वे मानशिक त्रास को झेल रहे है ! जिसको बर्दास्त करना आम आदमी की मुश्किल है । डाक्टरों का कहना है कि माता पिता के उत्तपरिवर्तित जीन्स के कारन ऐसा हुआ है । जिसके कारण इस बच्चों में विकृत दोष पाया गया है । इनकी तीसरी बेटी इस बीमारी से अप्रभावित है ।उसे इस तरह की कोई बीमारी नही है । वह बिलकुल स्वस्थ है ।

 

Mirror UK says the truth –
Sayali, 13, and Siddhant, 11, have been segregated at school and branded witches and ghosts by locals frightened by their appearance.

Their parents apply moisture three times a day while drugs offer only slight relief. The children’s bones are weakening and their sight is deteriorating. There is no cure. Yet the emotional suffering is often as difficult to bear as the physical pain.

Sayali said: “I’m disgusted when I see myself in the mirror. I wonder why God made my brother and me this way. I aspire to be an accountant but I wonder if anyone would offer me a job with this condition.”

 

https://www.facebook.com/SMHoaxSlayer/photos/a.147357335599672.1073741828.140690692933003/380510275617709/?type=3

  •  
    9
    Shares
  • 9
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: