The boy wasn’t sacrificed in the shocking procession video.

Spread the truth:
  • 80
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    80
    Shares

A shocking set of photos and a video is viral showing a procession carrying a decapitated head of a boy with text –

राजस्थान के भीलवाडा जिले मे अंधविश्वास की हद पार !
किसी गांव मे बच्चे की बली दे जलूस निकालते अंधभक्त लोग !!

Translated –

“Epitome of Superstition in Rajasthan’s Bhilwara,
Blind superstitious people taking out a procession of sacrifice of a kid in some village”

 

Truth –

SMHoaxSlayer contacted Rajasthan Police yesterday evening and received the following reply in the morning

आवश्यक सूचना
सोशल मीडिया सेल जिला भीलवाड़ा
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे कुछ फोटो और वीडियो जिसमें लिखा हुआ है कि राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में अंधविश्वास की हदें पार किसी गांव में छोटे बच्चे की बलि दे गांव में निकला जुलूस
यह कोई घटना नहीं है बल्कि थाना गंगापुर के ग्राम खाकरा मैं हर वर्ष की भांति इस वर्ष के नवरात्रि के दिनों में बी जादू टोना और करतब से ग्राम वासियों का मनोरंजन करने के लिए नाटकीय रूप से जुलूस निकाला गया है इसमें किसी बच्चे की बलि नहीं दी गई है खाखला ग्राम 150 वर्षों से जादू टोने के कार्यक्रमों से प्रसिद्ध है खाखला ग्राम को कांगरू का देश माना जाता है यह प्रोग्राम प्रत्येक नवरात्रि में मां चामुंडा के मंदिर से यह प्रोग्राम शुरू होता है जिसमें मुख्य रूप से गले में छुरा डालना पेट में छुरा डालना गले का कटा हुआ होना तलवार की नोक पर पत्थर का उडना जैसे प्रोग्राम आयोजित किए जाते हैं जिसमें आसपास के करीब 7000 आदमी देखने आते हैं इन प्रोग्राम की वजह से ग्राम खाखला प्रसिद्ध है उक्त प्रोग्राम के कार्यक्रम को बढ़ा चढ़ाकर मैसेज वायरल किया है ऐसी कोई घटना घटित नहीं हुई है”

Translated –

Important Information
Social Media Cell, District Bhilwara
Few photos and a video is viral on Social Media claiming “Epitome of Superstition in Rajasthan’s Bhilwara,
Blind superstitious people taking out a procession of sacrifice of a kid in some village”
This is not an incident, but in Thane Gangapur, village Khankhla, such procession takes place every year during Navratri. People display such witchcraft only for entertainment. No kid has been sacrificed in this. Khankhlan village is famous for 150 years. It is known as a country of Kangru, And this program starts every navratri in the name of Mother Chamunda. It mostly consists of few such fake stunts like a knife in neck, knife in stomach, decapitated head, flying stone on the point of sword etc. Approximately 7000 people come to watch this program because of which the village Khankkhala is famous. This has been made viral but no such real incident happened.

 

Rajasthan Police also clarified later on Twitter –

Further, you can see that the kid moved his eyelashes at 1 minute and 10 seconds for fraction of a second.

Also, the part below can be seen which can hide the Kid’s body

More Fakes –

राजस्थान भीलवाड़ा में एक मासूम की बलि देकर धर्म की रक्षा की जा रही है अगर आप भी हिन्दू धर्म रक्षक हैं तो अपने बच्चो की बलि देकर धर्म की रक्षा कर सकते हैं।अंधविस्वास केवल शिक्षा के उजियारे से ख़त्म हो सकता है संस्कृत वाली शिक्षा नहीं तर्कशील शिक्षा।जला मशाल उज्यारे कीगिरा दे इंट पाखंड के चौबारे की ।।जय यौद्धेय

Posted by चौ. नवीन चहल लम्बरदार on Friday, October 19, 2018

 

 

 

 

राजस्थान के भीलवाडा जिले मे अंधविश्वास की हद पार !किसी गांव मे बच्चे की बली दे जलूस निकालते अंधभक्त लोग !!😠

Posted by Gopal Kant on Friday, October 19, 2018

राजस्थान के भीलवाडा जिले मे अंधविश्वास की हद पार !किसी गांव मे बच्चे की बली दे जलूस निकालते अंधभक्त लोग !!

Posted by Jeetu Bhadrawal on Friday, October 19, 2018

राजस्थान के भीलवाडा जिले मे अंधविश्वास की हद पार। गांव मे मासूम बच्चे की बली देकर जलूस निकालते धार्मिक। क्या यह है 21वी सदी का भारत? क्या यह है यहाँ की विश्व की सबसे उन्नत और विकसित सभ्यता?आखिर कब रोक लगेगी इस तरह के राक्षसी कृत्यों पर? हम भारत सरकार और प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठनों से मांग करते है कि इस तरह के अमानवीय कामों ओर तुरंत रोक लगाए। दोषियों को फांसी की सजा दी जाए। ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाएं ना हो। जो यहां फालतू की बहस करने वाले है उनके लिए हमारा एक सवाल, अगर बलि चढ़ाए जाने से स्वर्ग मिलता है तो बलि चढ़ाने वाले अपने बाप, दादा, माँ आदि प्यारों की बलि दे कर उनको सीधे स्वर्ग क्यों नही भेजते?PMO India United Nations Human Rights Watch United Nations Human Rights🙏🙏🙏Right Foundation

Posted by Right Foundation on Friday, October 19, 2018

Click here More Fakes on Facebook

 

  •  
    80
    Shares
  • 80
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

%d bloggers like this: