क्या डिस्काउंट में BS III की खरीदी हुई गाड़ी आपको BS IV से भी पड़ेगी महंगी ?

Spread the truth:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

क्या डिस्काउंट में BS III की खरीदी हुई गाड़ी आपको BS IV से भी पड़ेगी महंगी ?ये मैसेज 2 दिनों से व्हाट्सएप्प पर घूम रहा है – 

ब्रेकिंग न्यूज़ 

*डीडी न्यूज़ में परिवहन मंत्री गडकरी का बयान* 

जिन व्यक्तियों ने 10 से ₹15000 के डिस्काउंट पर गाड़ियां खरीद ली है

( *सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना है और रजिस्ट्री ऑफिस में 8000 रूपए अलग से शुल्क चुकाना होगा ) शुल्क चुकाने के बाद ही बाइक की आरसी और इंसोरेंनश के कागज़ दिए जाएंगे*  एवं  उन लोगों के लिए एक और बड़ी दुखद बात की 31 मार्च के बाद होने वाले सभी रजिस्ट्रेशन पर बीएस-4 पोलूशन किट लगवाना अनिवार्य रहेगा जिसकी अनुमानित कीमत 17000 से ₹20000 के आसपास आएगी कंपनी ने अपना स्टॉक ग्राहकों के साथ एक बहुत बड़ी साजिश के तहत बेच दिया है। भविष्य के लिए सावधान रहो सुरक्षित रहो जय हिंद जय भारत

न तो ऐसी कोई घोषणा हुई, न ऐसा कोई किट आता है।

Car & Bikes says – Changes from BS3 to BS4 for motorcycles are more than just tailpipe emissions. Regulations also (for the first time) restrict evaporation emissions from fuel tanks, which mean a new breather value and additional or changed stamps in the body structure or additional brackets that hold these new systems. This is very difficult to retrofit considering the fact that major design changes might be needed.
 
Coming to tail pipe emissions, BS4 motorcycles in most cases require larger catalytic converters in terms of flow volumes to eliminate harmful nitrogen based gasses. And although that could be adapted within the exhaust system, most bikes also need a secondary airflow system that adds oxygen (or natural air) to the exhaust stream just before the catalytic convertors. This of course, is a more complex system for which retro fitment is more difficult. Many manufacturers have also resorted to a more complex ECU and ignition control setup that has more than the standard idle map and full throttle map for a better control of the ignition timing which in turn makes for a cleaner burn and thus, less pollution. The byproduct of this is also a more linear acceleration curve and better fuel economy.


Spread the truth:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: